''Wel-Come''

छोटी खाटू के लड़के ने पूरा किया New Year Resolutions , ग्रामीणो ने बनाया सरपंच !!!! [chhoti khatu village head ]

4
हम लोग हर नए साल पर कुछ Resolutions(संकल्प) बनाते हे परन्तु कमजोर इच्छा सकती और काम की व्यवस्थाओं के बीच हमारे संकल्प पहली तारीख के आधे दिन तक ही नहीं चल पाते हे | New Year Resolutions टूटना अब एक आम बात हो गयी हे । यही कारन हे की लोग दूसरों के टूटते हुवे Resolutions पर ठीक ढंग से हंस भी नहीं पाते। जब नया साल लगा तो हर बार की तरह इस बार भी लोगों ने New Year Resolutions  बनाने की परम्परा का निर्वाहन करते हुवे अपने अपने Resolutions बनाये और फिर बेफिक्र होकर अपने दैनिक कार्य करने लगे । लेकिन राजस्थान के नागौर जिले की डीडवाना तहसील के छोटी खाटू गांव में तो इस बार चमत्कार ही हो गया ।

'होली' पर नरेन्द्र मोदी का प्रचार कैसे करे ...[How to promote Modi on Holi.]

0


'होली' और लोकसभा चुनावों का आगाज हो चूका हे । 'होली' के इस अवसर पर जब चारों और खुशियों की धूम छायी हुयी हे वंही दूसरी और 'नरेंद्र मोदी' उनके विरोधियों के चेहरों का रंग उड़ा रहे हे । हम सब कि हार्दिक इच्छा हे कि इस बार 'मोदी जी' देश के प्रधानमंत्री बने ।




                                                    

दीपावली पर नरेन्द्र मोदी का प्रचार कैसे करे ...[How to promote Modi on Diwali.]

1
दिपोत्सव का आगाज हो चूका हे और लोकसभा चुनावों का आगाज होने वाला हे दीपावली के इस अवसर
पर जब चारों और खुशियों की धूम छायी हुयी हे वंही दूसरी और 'नरेंद्र मोदी' उनके विरोधियों के फटाके छुड़ा रहे है। हम सब कि हार्दिक इच्छा हे कि इस बार 'मोदी जी' देश के प्रधानमंत्री बने अब प्रधानमंत्री का चुनाव कोई 'वार्डपंच' का चुनाव तो हे नहीं जो  रातों-रात गली वालों को मनाया और सुबह वार्डपंच बन गये। इस लिये एक लम्बी तैयारी करनी पड़ती हे और जायज हे कि यह तैयारी हमें करनी ही पड़ेगी ''तो क्यूँ इसकी शुरुवात दीवाली के शुभ अवसर से ही कि जाये''

सभी के लिये खतरनाक ''मल्टीटास्किंग'' आखिर हे क्या ??? { About Multitasking }

1
  • Wednesday, April 24, 2013
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: , , ,

  • 'मल्टीटास्किंग' एक आधुनिक बीमारी ही हे जो की बाकि जानलेवा बिमारियों से अधिक खतरनाक हे 'मल्टीटास्किंग' का अर्थ होता हे ''एक साथ कईं कामो का करना' और वर्तमान में  'मल्टीटास्किंग' के लिये सबसे ज्यादा जिम्मेदार कोई हे तो वह हे 'फोन और इंटरनेट' ।पुराने ज़माने के लोगों के पास सिमित कामधंधे थे इसलिए वो इस खतरे से बचे रहते थे परन्तु इस समय में हर व्यक्ति 'मल्टीटास्किंग' की समस्या से झुझ रहा हे , कईं बार तो वो चाहते हुवे भी 'मल्टीटास्किंग' का शिकार हो जाता हे

    'छोटी-खाटू' गाँव की यादें........तस्वीरों की शक्ल में !!(Chhoti- Khatu Village)

    4
  • Wednesday, January 30, 2013
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: ,



  • गाँव से लोटते ही एक पोस्ट लिखी थी..शायद आपने पढ़ी होगी
    गाँव से बहुत सी यादें साथ लेकर आया हूँ जिनमे से सबसे जयादा अच्छा तब लगा जब में हमारे गाँव के पर्यटक स्थल 'खांडया डूंगर' गया !!
    चलिए 'भगवान से शुरुवात' करते हे
    1.'करणी माता का मन्दिर'
    Krni Mata's temple , chhoti -khatu

       



                



    'गाँव से शहर की और शहर से गाँव की और मेरी यात्रा''....और इस यात्रा के ...'हंसी,खुसी और दर्द" के पल

    2
  • Monday, January 28, 2013
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: , ,
  • यह हर उस  ग्रामीण 'लड़के-लड़की' या 'आदमी -ओरत' की व्यथा हे, जो गाँव छोड़कर शहर में अपनों से दूर 'पढाई,रोजगार या अन्य किसी  कारण से जाता हे, गाँव लोटते समय उसके चेहेरे पर एक अलग ही 'ख़ुशी' होती हे और गाँव छोड़ते वक्त उसका चेहरा एक दम 'उदास' होता हे .....अपनों से मिलने और बिछड़ने की ख़ुशी और दर्द को 'टूटे-फूटे' शब्दों में जोड़ने का प्रयास किया हे ,देखिये जरा  
    = = = = = = = = = = = = = = = =  ==  = == = = = =
    'शहर' से 'गाँव'
    पहुँचते-पहुँचते
    घड़ी  में
    '
    सात'
    बज गयी थी,
    और
    गली में
    '
    रात'
    सज गयी थी,

    "सब पर भारी....अटल बिहारी".......(ATAL BIHARI VAJPEYI)

    5
  • Tuesday, December 25, 2012
  • विजयपाल कुरडिया
  • सबसे पहेले तो "अटल जी " को जन्म पर्व की हार्दिक शुभकामनाये और उनके अच्छे स्वस्थ के लिए प्रभु से प्रार्थना  :- 
    जिस तरह रास्ट्र गान, रास्ट्र धवज और रास्ट्र चिहन किसी देश की पहचान  करते हे वेसे ही कुछ 'चहरे' अपने रास्ट्र के 'पर्याय' और 'पहचान' बन जाते हे ! जेसे 'अब्राहिम लिंकन' से अमेरिका , सद्दाम हुसेन  से इराक , उल्फिकार अली भुट्टो  से पाकिस्तान और महात्मा गाँधी , लाल बहादुर सास्त्री या फिर अटल बिहारी वाजपेयी से "भारत"

    इंटरनेट से भारी डाटा(फाइलों) को भेजने का आसन तरीका....{ Best High WAy to Send Heavy Data From Internet}

    5

    जी-मेल,याहू-मेल,फेसबुक आदि पर हम अपने दोस्तों  को एक निश्चित डाटा वाली फाइल ही भेज पते हे परन्तु कंई-कंई बार ऐसे मोके आते हे जब किसी  भारी फाइलों को दूसरी जगह भेजना होता हे, तब यह 'मेल' अपने हाथ खड़े कर देते हे !
                         परन्तु इंटरनेट की दुनिया में ऐसे कंई  रास्ते हें जिन से हम भारी फाइलों को आसानी से एक स्थान से दुसरे स्थान पर भेज सकते हे |

    एक "SMS" का कमाल::::::::::::: दुनियां लगे बेमिसाल!!(Only One Sms)

    5


    "देखन में छोटा लगे...." बिहारी जी की यह उक्ति हमारे "SMS" पर पूरी तरह लागु होती हे । अब "sms" दिन-प्रतिदिन पावरफुल होता जा रहा हे ।बेंक अकाउंट  चेक करना हो या शेयर मार्केट का हाल जानना हो ,बिल जमा करना हो ,टिकट बुक करना हो,रिजर्वेसन करना हो या फिर खबरों से खुद को अपडेट  रखना हो ! सबकुछ हाजिर हे इस एक "SMS" से....

    क्या हे यह गूगल-प्लस हैंगआउट.....[About Google-Plus Hangouts]

    0
  • Friday, August 31, 2012
  • विजयपाल कुरडिया
  • लेबल: , , ,

  • आज नरेंद्र मोदी "गूगल-प्लस हैंगआउट" से इंटरनेट से जुड़े 16 लोगो से सीधे बातचीत करेंगे,जिसमे से आप भी एक हो सकते हे पर यह "गूगल-प्लस हैंगआउट" आखिर हे क्या?
    "गूगल-प्लस हैंगआउट" असल में गूगल की वह सेवा हे जिसमे Google Plus के User नौ लोगों से एक साथ 'ऑडियो-वीडियो चैंटिंग' कर सकते है।

    subscribe

     
    Copyright 2010 Vijay Pal Kurdiya